देश के सामने हर बार मुसलमान को एक खलनायक के तौर पर खड़ा करने के षड्यंत्र का नतीजा है दिल्ली का दंगा।

बहुत ज़्यादा नहीं बल्कि थोड़ा सा ही पीछे चलते हैं, सिर्फ मई 2014 तक लौटते हैं, और उस वक़्त से पहले के हिंदुस्तान को देखते हैं, पाकिस्तान तब मुर्दाबाद नहीं...
Close