एक साल बिना स्मार्ट फ़ोन के रहने का चैलेंज पूरा कर ये महिला जीतने जा रही है पूरे 72 लाख रूपये।

डिजिटल दौर में और सोशल मीडिया की लत लगी होने की वजह से स्मार्ट फ़ोन आज सबकी ज़रुरत बन चुका है, ऐसे में अगर कोई हमसे ये कहे कि एक साल स्मार्ट फ़ोन के बिना बिताओ तो हम कल्पना करके ही सिहर उठेंगे, न व्हाट्सएप, न फेसबुक, न टवीटर, न इंस्टाग्राम, न स्नेपचैट, सब कुछ छूटने के डर से ही लोग स्मार्ट फ़ोन से दूरी की कल्पना नहीं कर सकते।

मगर यदि कोई कंपनी कहे कि आप एक साल बिना स्मार्ट फ़ोन के बिताओ तो हम आपको 100,000 $ डॉलर्स (लगभग 7200,000/- लाख रूपये) देंगे तो भी बहुत ही कम लोग इसके लिए तैयार हो पाएं या इस शर्त को पूरा कर पाएं, मगर ऐसा हो गया है, अमरीका के न्यू यॉर्क की एक महिला ने इस चेलेंज को मंज़ूर कर लिया है, और उसने बिना स्मार्ट फ़ोन के 10 महीने गुज़ार दिए हैं, दो माह और गुज़ारने के बाद वो 7200,000/- लाख रूपये जीतने वाली है।

CNN की खबर के अनुसार कोका कोला के उत्पाद Vitamin Water ने दिसंबर 2018 में ‘Scroll Free for a Year’ नाम की एक प्रतियोगिता शुरू की थी, जिसकी शर्त ये थी कि प्रतियोगियों को इस चेलेंज के लिए अपने फ़ोन जमा करना होंगे और एक साल बिना स्मार्ट फ़ोन के गुज़ारना होंगे, न्यू यॉर्क निवासी 29 साल की फिक्शन राइटर Elana Mugdan नाम की एक महिला ने एक अमेरिकी कंपनी की तरफ से आयोजित Scroll Free for a Year नाम की प्रतियोगिता में हिस्सा लेकर प्रतियोगिता के नियमों के मुताबिक एक साल तक बिना स्मार्टफोन के रहने की चुनौती स्वीकार की थी।

इसके लिए एलाना को अपना Apple iPhone 5s कंपनी के पास जमा कराना पड़ा था, और उसके बदले उसे बटन वाला पुराना Kyocera सेट दिया गया था, इस चेलेंज में उसे लैपटॉप या डेस्कटॉप कंप्यूटर और यहां तक ​​कि Google होम या अमेज़ॅन एलेक्सा द्वारा संचालित स्मार्ट उपकरणों का उपयोग करने की ही अनुमति दी गई थी। मगर उसे स्मार्ट फ़ोन और टेबलेट इस्तेमाल करने की इजाज़त नहीं थी।

एलाना इस चेलेंज के 10 महीने बिना स्मार्ट फ़ोन के गुज़ार चुकी है, आठ माह बाद प्रतियोगियों का लाई डिटेक्टर टेस्ट होता है, एलाना ने उस टेस्ट को भी पास कर लिया है। एलाना कहती हैं कि “मैं ये चेलेंज मंज़ूर करके खुश थी मगर मुझे इसमें कई मुश्किलों का सामना करना पड़ा, एक बार एयरपोर्ट पर फंस गयी थी, कैब बुलाने के लिए मेरे पास कोई एप नहीं था, बिना स्मार्ट फ़ोन के मेरा सामाजिक जीवन भी प्रभावित हुआ है, मैं अपने दोस्तों से कनेक्ट नहीं रह पाई न ही अपने अनुभव, खुशियां आदि शेयर कर पा रही हूँ।”

मगर इन सब कठिनाइयों के बावजूद एलाना कहती हैं कि स्मार्ट फ़ोन से दूर रहना उनके लिए सकारात्मक था और उनके जीवन का सबसे बेहतरीन फैसला था, उन्होंने फैसला किया है कि इस चेलेंज के पूरा होने के बाद भी वो स्मार्ट फ़ोन से दूर ही रहेंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close