आज दिन में कई न्यूज़ चैनल्स पर खबर प्रमुखता से दिखाई गयी थी कि भारत बंद के दौरान बिहार के जहानाबाद जिले में प्रदर्शन दौरान जाम में फंसने से उसमें सवार एक मासूम की मौत हो गई, भाजपा ने इस पर राहुल गाँधी से जवाब भी तलब किया था। लेकिन नए घटनाक्रम में स्थानीय प्रशासन समेत बच्ची के पिता ने कहा है कि बच्ची की मौत जाम में फंसने के कारण नहीं बल्कि वह खुद ही इलाज के लिए घर से देरी से निकले थे।

ज़ी न्यूज़ की खबर के अनुसार बच्ची के पिता ने खुद स्वीकार किया कि वह बच्ची को लेकर ही घर से देर से निकले थे. जहानाबाद के जिलाधिकारी आलोक रंजन ने इस पर कहा कि बच्ची की तबीयत पिछले दो दिनों से खराब चल रही थी, जबकि उसके माता-पिता बच्ची को आज हॉस्पिटल के लिए लेकर चले थे। उन्होंने कहा कि भारत बंद और बच्ची की मौत का सीधा कोई संबंध नहीं है, लेकिन फिर भी बंद के दौरान वाहन कम होने से बच्ची को समय पर हॉस्पिटल नहीं पहुंचाया जा सका।

SDO पारितोष कुमार ने कहा कि बच्ची को समय से इलाज नहीं मिला. पीड़ित बच्ची के परिजन इलाज के लिए घर से ही देर से चले थे. इसलिए बच्ची की मौत हुई।

 

बिहार में प्रमुख विपक्षी दल आरजेडी के नेता तेजस्वी यादव ने बच्ची के पिता की बातचीत का एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें बच्ची के पिता को यह कहते हुए सुना जा सकता है कि वे ही बच्ची को लेकर देरी से निकले थे. इस पर तेजस्वी यादव ने बीजेपी से माफी मांगने की बात कही है।

तेजस्वी यादव ने अपने ट्वीट में कहा है कि बिहार में डीएम और एसडीओ तो उन्हीं के हैं, वे खुद स्वीकार कर रहे हैं कि बच्ची की मौत बंद के कारण नहीं हुई. जबकि बीजेपी नेता गलत बयानबाजी करके जनता को गुमराह कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *