शिकागो में भारतीय मूल की हैदराबाद निवासी छात्रा की रेप के बाद गला दबाकर हत्या।

अमरीका के शिकागो शहर में यूनिवर्सिटी ऑफ इलिनोईस (University of Illinois) की ऑनर्स स्टूडेंट हैदराबाद निवासी 19 वर्षीया रूथ जॉर्ज की बलात्कार करने के बाद गला घोंटकर हत्या करने से सनसनी फ़ैल गई है। वीडियो फुटेज के आधार पर इस मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है।

हैदराबाद निवासी रूथ जॉर्ज एक होनहार छात्रा थी उसने पिछले साल शिकागो उपनगरीय इलाके में नैपरविले सेंट्रल हाई स्कूल से ग्रेजुएशन किया था, वो एक भौतिक विज्ञानी बनना चाहती थी।

CNN के अनुसार घटना शनिवार 23 नवम्बर की बताई गई है, रुथ जॉर्ज के परिवार वालों ने यूनिवर्सिटी को सूचित किया था कि उनकी बेटी का शुक्रवार से कोई संपर्क नहीं हो पा रहा है। पुलिस द्वारा छानबीन करने पर उसके फोन की लोकेशन ट्रेस करते हुए पहुंची तो रुथ जॉर्ज का शव शनिवार को यूनिवर्सिटी कैम्पस के गैराज में उसी की परिवार की कार में मिला।

वीडियो फुटेज के आधार पर हमलावर, डोनाल्ड थ्रूमेन को रविवार को शिकागो मेट्रो स्टेशन से गिरफ्तार किया गया था। वह विश्वविद्यालय से जुड़ा नहीं है। सोमवार को, उसपर फर्स्ट-डिग्री हत्या का आरोप लगाया गया है। आपराधिक इतिहास रखने वाले डोनाल्ड थ्रूमेन का उस यूनिवर्सिटी से कोई लेना देना नहीं था।

गिरफ़्तारी के बाद डोनाल्ड थ्रूमेन ने अपना अपराध स्वीकार कर लिया है, उसका कहना था कि रूथ जॉर्ज यूनिवर्सिटी कैंपस से कार गैराज जा रही थी, उसने उसे देखकर ने सीटी बजाई, पर रूथ जॉर्ज ने इसे नजरअंदाज कर दिया। इसके बाद थ्रूमेन ने गैराज तक जॉर्ज का पीछा किया और उससे बात करने की कोशिश की। जब रुथ जॉर्ज ने उसे लगातार अनदेखा किया तो उसने गेराज में उसे पकड़ कर कार में ले गया उसका बलात्कार किया और उसके बाद उसका गला दबाकर हत्या कर निकल गया।

इस घटना से यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स काफी डरे हुए हैं, छात्रों ने CNN को बताया कि इस घटना ने उन्हें भयभीत कर दिया है।
जूनियर छात्र करण पटेल ने कहा कि “अब हर कोई अपनी सुरक्षा और सामान की तरह चिंता कर रहा है, ऐसे छात्र हैं जो अब बाहर निकलने से डरने लगे हैं।”

एक सीनियर स्टूडेंट डेनिएल पर्किन्स ने CNN को बताया कि “क्योंकि अंतिम परीक्षाएं 9 दिसंबर से शुरू होती हैं, बहुत सारे छात्र लाइब्रेरी में देर से पढ़ते हैं, और कई छात्र वहीँ डेक में अपनी गाड़ियां पार्क करते हैं, जहाँ रूथ जॉर्ज की के साथ बलात्कार कर हत्या की गई।”

यूनिवर्सिटी के चांसलर माइकल डी अमिरिडिस का कहना है कि “रूथ जॉर्ज जिसे उसके दोस्त प्यार से “रूटी” कहते थे, एक प्रतिभाशाली स्टूडेंट थी, वो मेडिकल क्षेत्र में जाकर मानव सेवा करना चाहती थी, वो दयालू थी और लोगो की मदद करने के लिए आगे रहती थी, हमारे विचार और हमारी संवेदना उनके परिवार और दोस्तों के साथ है।”

यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स ने रूथ जॉर्ज की याद में यूनिवर्सिटी केम्पस के चारों ओर पीले रिबन लटकाए गए हैं, जिसका उपनाम “बेबी कलर” रखा गया। छात्रा सिंथिया मार्टिनेज का कहना है कि “इस रिबन का रंग उसका पसंदीदा रंग है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close