यूरोपीय देश लक्ज़मबर्ग इतिहास रचने वाला है। यहां की सरकार अगले साल गर्मियों तक सभी तरह के पब्लिक ट्रांसपोर्ट फ्री करने जा रहा है। ऐसा करने वाला ये दुनिया का पहला देश होगा। लक्ज़ेमबर्ग में बस, ट्रेन और ट्राम की यात्रा के लिए कई लोगों को कोई पैसा नहीं चुकाना पड़ेगा।

Euro News के अनुसार लक्ज़मबर्ग में बस, ट्रेन और ट्राम की यात्रा के लिए कई लोगों को कोई पैसा नहीं चुकाना पड़ेगा। देश के पर्यावरण को बचाने और ट्रैफिक की समस्या से निजात पाने के लिए सरकार खास योजना तैयार कर रही है।

लक्जेमबर्ग सिटी में 2016 में जाम के दौरान एक ड्राइवर के औसतन 33 घंटे खराब हुए। पूरे देश की आबादी छह लाख है। दो लाख लोग पड़ोसी देशों फ्रांस, बेल्जियम और जर्मनी से सीमा पार कर यहां काम करने आते हैं।

दिसंबर माह में ही प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने वाले जेवियर बेटल ने चुनाव अभियान में ही साफ कर दिया था कि वे पब्लिक ट्रांसपोर्ट को फ्री कर देंगे। देश के पर्यावरण को बचाने और ट्रैफिक की समस्या से निजात पाने के लिए सरकार ने ऐसा करने का फैसला लिया है। दरअसल, बुधवार को नई सरकार बनाने के बाद प्रधानमंत्री जेवियर बेटल ने पर्यावरण को लेकर बड़ा ऐलान किया।

सरकार 20 साल तक के युवाओं के लिए पहले ही मुफ्त ट्रांसपोर्ट का ऐलान कर चुकी है। सेकंडरी स्कूल के बच्चों को घर से स्कूल आने-जाने के लिए फ्री सर्विस शुरू की गई है।

किसी भी व्यक्ति को दो घंटे से ज्यादा की यात्रा करने के लिए 1.78 पाउंड (महज 160 रुपए) ही चुकाने होंगे। यानी 2590 वर्गकिमी क्षेत्रफल वाले देश को घूमने के लिए किसी व्यक्ति को 160 रुपए ही चुकाने होंगे।