इन दिनों अक्षय कुमार का नाम और उनकी कनाडा की नागरिकता का मामला चर्चाओं में है, साथ ही उनके राष्ट्रवाद पर भी बहस जारी है, सबके अपने मत हैं, फिर भी यदि कोई व्यक्ति अपने देश को त्याग कर दूसरे देश की नागरिकता लेकर त्यागे हुए देश के प्रति प्रेम प्रकट करे या राष्ट्रवाद झाड़े तो हंसी आती है।

ऐसे मामले में देशप्रेम यदि देखना है तो प्रसिद्द संगीतकार, ऑस्कर अवॉर्ड विजेता और गायक ए.आर. रहमान का देखना चाहिए जिन्होंने कनाडा में बसने के निमंत्रण को ठुकरा दिया था, और अपने देश अपने राज्य तमिलनाडु को ही प्राथमिकता दी थी, बात 7 फ़रवरी 2017 की है जब रहमान अपने सम्मान में रखी गई म्यूजिक कॉन्सर्ट में शामिल होने टोरंटो गए थे, जहाँ 100 से भी ज्यादा कलाकारों ने मिलकर एआर रहमान को ट्रिब्यूट दिया था, इस कांसर्ट के बाद टोरंटो के मेयर जॉन टॉरी ने उन्हें कनाडा में सेटल होने को ऑफर दिया था।

The News Minute में प्रकाशित खबर के अनुसार कनाडा के मेयर के इस प्रस्ताव के जवाब में रहमान ने अपनी फेसबुक पोस्ट शेयर कर मेयर को जवाब देते हुए लिखा कि आपको इस व्यवहार ने मुझे काफी इंस्पायर किया है। साथ ही उन्होंने लिखा कि उनका अभी बाहर सेटल होने का कोई इरादा नहीं है। वो लिखते हैं कि वो भारत में तमिलनाडु में अपने परिवार और दोस्तों के साथ काफी खुश हैं।

कनाडा में ए.आर. रहमान काफी प्रसिद्द हैं और लोग उनका सम्मान करते हैं, कनाडा सरकार ने 15 जनवरी 2017 को ए.आर. रहमान के सम्मान में मरखाम (ओंटारियो) में एक सड़क का नाम ‘अल्लाह रखा रहमान स्ट्रीट’ रख दिया है।

अपना देश त्याग कर दूसरे देश की नागरिकता लेकर राष्ट्रवादी होने का ढोल पीटने वाले अक्षय कुमार और कनाडा की नागरिकता ठुकराकर भारत देश को प्राथमिकता देने वाले ए.आर. रहमान के राष्ट्रवाद के तुलना करेंगे तो ए.आर. रहमान का क़द और उनके देशप्रेम कहीं ऊंचा बहुत ऊंचा ही मिलेगा जिसे किसी भी प्रमाणपत्र की बिलकुल भी ज़रुरत नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *