MNS चीफ राज ठाकरे ने मोदी सरकार पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं, उन्होंने दावा किया कि आगामी चुनाव जीतने के लिए, अगले 1-2 महीनों के भीतर एक और पुलवामा जैसा हमला होगा।  The Week के अनुसार महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना चीफ राज ठाकरे ने कहा कि चुनाव में जीत के लिए पुलवामा जैसी एक और घटना निकट भविष्य में फिर घट सकती है। ठाकरे मुंबई में MNS के 13 वें स्थापना दिवस पर पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे।

राज ठाकरे ने शनिवार को मुंबई में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, ‘झूठ बोलने की भी कोई सीमा होती है. चुनाव जीतने के लिए झूठ बोला जा रहा है, चुनाव जीतने के लिए अगले एक दो महीने में पुलवामा के समान एक और हमला होगा।”

ठाकरे ने सवाल उठाया कि ‘पुलवामा हमले में 40 जवान शहीद हो गए क्या हमें सवाल भी नहीं पूछना चाहिए ? दिसंबर में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल बैंकॉक में पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार से मिले थे, इस बैठक की पारदर्शिता के बारे में हमें कौन बताएगा ?’

ठाकरे ने यह भी आरोप लगाया कि पुलवामा हमले से पहले खुफिया एजेंसियों द्वारा जारी चेतावनियों को नजरअंदाज कर दिया गया था।

पुलवामा हमले में 40 जवान शहीद हो गए। क्या हमें अब भी सवाल नहीं पूछना चाहिए ? दिसंबर में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल ने बैंकॉक में पाकिस्तानी NSA चीफ से मुलाकात की थी, कोई हमें बताएगा कि बैठक में क्या हुआ ?

बालाकोट हमले में हताहतों की संख्या पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के बयान पर कटाक्ष करते हुए, मनसे प्रमुख ने कहा कि क्या शाह हवाई हमले में भाग लेने वाले “सह-पायलट” में से एक थे।

राज ठाकरे ने कहा कि “खुफिया एजेंसियों ने पुलवामा से पहले चेतावनी दी थी, लेकिन उन्हें नजरअंदाज कर दिया गया था। क्या पूर्व खुफिया जानकारी के बावजूद जवानों के मारे जाने पर NSA जिम्मेदार नहीं है ?”

ठाकरे ने दावा किया कि भारतीय वायुसेना बालाकोट में लक्ष्यों पर मार इसलिए नहीं कर पायी क्योंकि मोदी सरकार द्वारा उन्हें “गलत जानकारी” प्रदान की गई थी।

उन्होंने कहा, “झूठ बोलने की एक सीमा होती है। चुनाव जीतने के लिए झूठ बोला जा रहा है। आगामी चुनाव जीतने के लिए, अगले 1-2 महीनों के भीतर एक और पुलवामा जैसा हमला होगा।”