देश के प्रधानमंत्री का नाम आते है महँगी बुलेट प्रूफ गाड़ियों के लाव लश्कर और सुरक्षा दस्तों के बीच चलने फिरने, आने जाने वाले PM की तस्वीर उभरती है, लेकिन एक ऐसे देश जहाँ देश के प्रधानमंत्री आम आदमी की तरह रहते हैं और साइकिल से चलते हैं।

नीदरलैंड के प्रधानमंत्री मार्क रुट जब कुर्सी पर काबिज हुए तो राजा को इसकी जानकारी देने के लिए वो महल पहुंचे। सादगी इस कदर हावी है कि मार्क रुट यहां भी बिना लाव लश्कर के साइकिल से आए। और तो और राजमहल में साइकिल खड़ी करने के बाद ताला लगाना भी नहीं भूले।

उनकी ये तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो गयी और दुनिया भर में लाखों लोगों ने शेयर की तथा प्रशंसा की, इस दौर में जबकि जनता के प्रतिनिधि बनने वाले शख्स अपनी बुनियाद को छोड़ हवा में उड़ने लगते हैं। ताकत का चस्का लगते ही आम आदमी, कारों के काफिले और भारी-भरकम सिक्यॉरिटी के साथ घर से बाहर कदम निकालता है। नीदरलैंड के प्रधानमंत्री की इस सादगी को दुनिया भर में वाह वाही मिली।

साइकिल की सवारी करने वाले प्रधानमंत्री मार्क रुते लगातार 2010 से ही नीदरलैंड के प्रधानमंत्री हैं। प्रधानमंत्री के इस कदम को पर्यावरण की दिशा में बेहतर कदम बताया जा रहा है। पर्यावरण के क्षेत्र में काम कर रहे समूहों ने कहा है कि एम्सटरडम के कई इलाकों में हवा की गुणवत्ता बेहद खराब है।

एम्सटरडम की हवा में नाइट्रोजन ऑक्साइड की मात्रा बहुत ज्यादा है, जिसने यूरोपियन यूनियन के मानकों को पहले की पार कर लिया है। प्रदूषण के स्तर में खतरनाक बढ़ोतरी से स्थानीय लोग बेहद परेशान थे। जिसके कारण प्रधानमंत्री मार्क ने खुद साइकिल से चलने का फैसला किया।

नीदरलैंड के प्रधानमंत्री का साइकिल प्रेम कोई नया नहीं है। बीते साल जून में जब भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 3 देशों की यात्रा के दौरान नीदरलैंड पहुंचे, तो उन्हें पीएम मार्क रुते ने उस समय उन्हें भी एक साइकिल उपहार स्वरूप भेंट की थी।

 

मार्क रुट साल 2010 से ही पीएम हैं। बीते 15 मार्च में हुए चुनाव में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला था। अभी 4 पार्टियों का गठबंधंन हुआ है, जिसने रुट को अपना नेता चुना। 26 अक्टूबर को मार्क रुट ने शपथ ली थी।​