तिहाड़ जेल प्रशासन पर एक मुस्लिम क़ैदी की पीठ पर गर्म धातु से ‘ॐ’ का चिन्ह गोदने का आरोप।

0 0
Read Time3 Minute, 16 Second

दिल्ली की तिहाड़ जेल से एक शर्मसार करने वाली खबर आयी है जिसमें एक मुस्लिम क़ैदी ने उसकी पीठ पर जेल कर्मियों द्वारा गर्म धातु से ॐ का चिन्ह गोदने का आरोप लगाया है।

Timesnow News के अनुसार हथियार तस्करी में सजा काट रहे नबीर उर्फ़ ​​पोपा ने शुक्रवार को कड़कड़डूमा कोर्ट की एक बेंच के सामने पेश  होकर ड्यूटी मजिस्ट्रेट ऋचा पाराशर के सामने उक्त आरोप लगाए थे।

समाचार एजेंसी ANI ने अपने ट्वीट में बताया है की नबीर, जिनकी न्यायिक हिरासत आज समाप्त हो रही थी, ने मजिस्ट्रेट को बताया कि जेल अधीक्षक राजेश चौहान ने उसके शरीर पर गर्म धातु से ॐ का चिन्ह गोद दिया गया ये जानते हुए भी कि मैं एक मुस्लमान हूँ।

नबीर ने कहा कि जेल अधिकारियों द्वारा न्यायिक हिरासत में उसे भूखा रहने के लिए मजबूर किया गया, उसे बेरहमी से पीटा गया और गर्म धातु से उसकी पीठ पर ॐ का चिन्ह गोद दिया गया, नबीर ने अदालत में अपनी शर्ट उतारकर अदालत को अपनी पीठ पर गोदा गया ॐ का चिन्ह भी दिखाते हुए जेल कर्मियों पर संगीन आरोप लगाए। नबीर

मजिस्ट्रेट ने नबीर के आरोपों पर ध्यान देते हुए तत्काल तिहाड़ जेल अधिकारियों को मामले की जांच करने और 24 घंटे के भीतर एक रिपोर्ट के साथ जवाब देने का आदेश दिया। अदालत द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि अभियुक्तों द्वारा लगाए गए आरोप बहुत ही गंभीर प्रकृति के हैं और इसमें तत्काल हस्तक्षेप की आवश्यकता है। समाचार एजेंसी ANI के अनुसार मजिस्ट्रेट ने आदेश को तत्काल प्रभाव से लागू करने के लिए पुलिस उप महानिदेशक (DGP Jail) को नोटिस जारी किया जा रहा है।

मजिस्ट्रेट के आदेश की प्रति.

अपने आदेश में आगे मजिस्ट्रेट ने जेल अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे उस वार्ड से बंद सर्किट टीवी कैमरा (सीसीटीवी) फुटेज के साथ अन्य कैदियों के बयान दर्ज करें, जहां नबीर को रखा जा रहा था। तिहाड़ जेल अधिकारियों को भी कैदियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक व्यवस्था करने को कहा गया है। इस बीच, नबीर को इस मामले की जांच लंबित एक अन्य जेल में स्थानांतरित कर दिया गया है।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *