आज 16 जनवरी 2019 को कारवां मैगज़ीन ने बड़ा खुलासा करते हुए अपनी एक रिपोर्ट में NSA चीफ अजीत डोभाल के दोनों पुत्रों के विदेशों में किये जा रहे व्यापर पर सवाल उठाये हैं, इस रिपोर्ट का शीर्षक ‘The D-Companies’ दिया गया है. मैगज़ीन के अनुसार अजीत डोभाल के पुत्र विवेक डोभाल केमैन द्वीप में एक Hedge Fund (निवेश निधि) चलाते हैं, साथ में कारवां का ये भी दावा है कि इसकी शुरुआत नोटबंदी के महज 13 दिन बाद हुई थी।

Carvan Magazine की उस Report का हिंदी अनुवाद प्रस्तुत है :-

“कारवां मैगज़ीन को यूनाइटेड किंगडम, अमरीका, सिंगापुर और कैमेन आइलैंड से प्राप्त ट्रेड डाक्यूमेंट्स बताते हैं कि अजीत डोभाल के छोटे पुत्र विवेक डोभाल एक स्थापित टेक्स हेवेन केमेन आइलैंड में हेज फण्ड चलाते हैं।

इस हेज फण्ड का पंजीकरण मोदी सरकार द्वारा लागू की गयी नोटबंदी के केवल 13 दिन बाद ही किया गया। मैगज़ीन के मुताबिक विवेक डोभाल का कारोबार उनके बड़े भाई शौर्य डोभाल द्वारा चलाए जा रहे कारोबार से जुड़ा है।

कारवां के अनुसार विवेक डोभाल इस हेज फण्ड के डायरेक्टर हैं, विवेक एक चार्टेड फाइनेंसियल एनालिस्ट हैं और ब्रिटिश नागरिक हैं, सिंगापुर में रहते हैं, इस हेज फण्ड का नाम GNY Asia Fund हैं, जुलाई 2018 के दस्तावेज़ों के अनुसार डॉन ई एबंक्स और मोहम्मद अल्ताफ मुस्लिम वीतील भी डायरेक्टर हैं, इसमें डॉन ई एबंक्स का नाम पनामा पेपर्स में आ चुका है, और ये केमेन औपचारिक रूप से आइलैंड सरकार का कर्मचारी होने के साथ साथ केमेन के फाइनेंस सेक्रेटरी और कैबिनेट मिनिस्टर को सलाह भी देता है।

मोहम्मद अल्ताफ मुस्लिम वीतील लूलू ग्रुप इंटरनेशनल के रीजनल डायरेक्टर हैं, जो कि पश्चिमी एशिया के हाइपर मार्केट्स की बढ़ती हुई प्रसिद्द चैन भी है, GNY Asia fund का लीगल एड्रेस बताता है कि ये वॉकर्स कॉर्पोरेट लिमिटेड की निगरानी में है, जिसका कि ज़िक्र पनामा पेपर्स में भी था।”

बाक़ी विस्तार से आप Carvan Magazine के इस लिंक पर जाकर पढ़ सकते हैं :
https://caravanmagazine.in/business/ajit-doval-sons-cayman-islands-hedge-fund-vivek-shaurya