वाइट हाउस में ट्रम्प और व्हाईट हाउस प्रशासन के अधिकारीयों द्वारा CNN के पत्रकार जिम अकोस्टा के साथ किये गए दुर्व्यवहार और उनके प्रेस पास निलंबित करने के चलते CNN ने इस कृत्य को प्रेस की आज़ादी के खिलाफ क़दम बताते हुए डोनाल्ड ट्रम्प और वाइट हाउस प्रशासन के खिलाफ मुक़दमा दायर कर दिया है।

CNN की खबर के अनुसार CNN द्वारा ये मुक़दमा वाशिंगटन डी,सी. की जिला अदालत में मंगलवार को दायर किया है, जिसकी सुनवाई जज टिमोथी जे केली करेंगे जिनकी नियुक्ति खुद डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा की गयी थी, CNN ने इस केस की जल्दी से जल्दी सुनवाई करने की अपील भी की है, और कहा है कि पत्रकार जिम अकोस्टा के निलंबित प्रेस पास को बहाल किया जाए।

इस केस में CNN और जिम अकोस्टा पीड़ित पक्ष हैं जबकि 6 अभियोगी पक्ष में हैं जिनमें, अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प, चीफ ऑफ़ स्टाफ जॉन केली, प्रेस सचिव सराह सेंडर्स, डिप्टी चीफ ऑफ़ स्टाफ ऑफ़ कम्युनिकेशन बिल शाइन, खफिया विभाग के निदेशक रैंडोल्फ अल्स और ख़ुफ़िया विभाग की महिला अफसर जिसने CNN के पत्रकार जिम अकोस्टा के हाथ से माइक छीनने की कोशिश की थी।

CNN का कहना है कि ट्रम्प प्रेस की आज़ादी पर नकेल कस रहे हैं, मीडिया की घेराबंदी कर रहे हैं, सच बोलने वाले पत्रकारों को देश विरोधी घोषित कर डराया धमकाया जा रहा है, और ये आगे भी जारी रहने वाला है, ये लोकतंत्र और पत्रकारिता के गंभीर संकेत है।