बिजली के खम्बे से लटके बेहोश लाइनमैन को मुंह से सांस देते दूसरे लाइनमैन के इस फोटो ने न सिर्फ कभी दुनिया को चौंकाया था बल्कि इसे 1968 का फोटोग्राफी का विश्व प्रसिद्द पुलित्ज़र पुरस्कार भी मिला थ।

इस फोटो को खींचने वाले अमरीकी फोटोग्राफर का नाम था रोको मोराबिटो, उन्होंने 10 साल की उम्र में ही हॉकर का काम शुरू किया, वो फ्लोरिडा में जैक्सनविले जर्नल मैगज़ीन बेचते थे। इसके बाद वो दूसरे विश्व युद्ध में एयर फोर्स में भर्ती हो गए। विश्व युद्ध खत्म होने के बाद वो फिर से जैक्सनविले मैगज़ीन के साथ जुड़ गए, लेकिन इस बार उन्होंने वहां एक फोटोग्राफर की हैसियत से काम संभाला।

अपने पुरस्कृत और आइकोनिक फोटो के साथ फोटोग्राफर रोको मोराबिटो.

घटना जुलाई 1967 की है जब रोको मोराबिटो उत्तर पश्चिमी जैक्सनविले की गली से गुज़र रहे थे तो उन्होंने वहां हाई वोल्टेज लाइन पर देखा कि एक लाइनमैन जिसका नाम रेंडल जी चैंपियन था काम करते हुए हाई वोल्टेज का करंट लगने से खम्बे से अचेत होकर हार्नेस के ज़रिये उल्टा लटका हुआ था, और उसका दूसरा लाइनमैन साथी जे डी थॉम्पसन खम्बे पर चढ़कर उसे अपने मुंह से कृत्रिम सांस देने की कोशिश कर रहे थ।

रोको मोराबिटो ने तुरंत ही एम्बुलेंस को फोन किया और उसके बाद इस घटना को अपने कैमरे में क़ैद कर लिया, जे डी थॉम्पसन खम्बे पर चढ़े हुए ही बाँहों में लेकर अपने साथी को अपने मुंह से लगातार कृत्रिम सांस दिए गए जब तक कि उनकी सांस वापस नहीं आई। वो जगह ऐसी थी कि CPR नहीं दिया जा सकता था।

रेंडल जी चैंपियन की सांस वापस आने के बाद उसके साथी जे डी थॉम्पसन ने उसे नीचे उतारा और फिर से CPR दी ताकि उसकी ह्रदय गति सामान्य हो सके और वो ढंग से सांस ले सके।

इस घटना के बाद रेंडल जी चैंपियन 35 साल और ज़िंदा रहे तथा 2002 में 64 साल की उम्र में उनका निधन हुआ, जे डी थॉम्पसन अभी ज़िंदा हैं।

फोटोग्राफर रोको मोराबिटो का ये फोटो जब अख़बारों और पत्रिकाओं में प्रकाशित हुआ इसकी कहानी लोगों को पता चली तो इस फोटो ने वैश्विक मीडिया में खूब सुर्खियां बटोरीं।

रोको मोराबिटो के इस फोटो को नाम दिया गया KISS OF LIFE, और 1968 में इस फोटो को फोटोग्राफी का विश्व प्रसिद्ध स्पॉट न्यूज़ पुलित्ज़र पुरस्कार दिया गया। रोको मोराबिटो जैक्सनविले मैगज़ीन के लिए 42 साल काम किया जिसमें 33 साल फोटोग्राफर के तौर पर रहे, 5 अप्रेल 2009 को रोको मोराबिटो का निधन हुआ था।

ये फोटो इसलिए भी आइकोनिक है कि अपने साथी की मदद और मानवीयता को सर्वोपरि रखकर अपनी जान की परवाह न करके अपने साथी की ज़िन्दगी बचाने के लिए जे डी थॉम्पसन ने खुद अपनी ज़िन्दगी दांव पर लगा दी थी।

Source :
https://historydaily.org/story-behind-iconic-kiss-life-photo
https://en.wikipedia.org/wiki/Rocco_Morabito_%28photographer%29