प्रतिभा उम्र की मोहताज नहीं होती इस बता को साबित किया है एक 13 वर्षीय भारतीय बच्चे आदित्यन राजेश ने जो इस छोटी सी उम्र में ही एक सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट कंपनी का मालिक बन गया है।

India Today की खबर के अनुसार आदित्यन राजेश ने अपनी पहली मोबाइल एप्लिकेशन उस समय बनाई थी, जब वह सिर्फ नौ साल का था। उसने एप्लिकेशन बनाने का काम अपनी ऊब मिटाने के लिए शौक के रूप में शुरू किया था। वह अपने ग्राहकों के लिए LOGO (प्रतीक चिह्न) और वेबसाइट भी बनाता रहा है।

आदित्यन ने पांच साल की उम्र में ही कंप्यूटर का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया था। अब 13 साल की उम्र में उसने अपनी ‘ट्रिनेट सॉल्यूशंस’ कंपनी की शुरूआत की है। इस कंपनी में फिलहाल कुल तीन कर्मचारी हैं जो आदित्य के स्कूल के मित्र और छात्र हैं।

आदित्यन का जन्म केरल के तिरुविला में हुआ था। आदित्यन ने कहा, मैं पांच साल का था तब मेरा परिवार दुबई आ गया। पहली बार मेरे पिता ने मुझे बीबीसी टाइपिंग दिखाई थी। यह बच्चों के लिए एक वेबसाइट है जहां छोटी उम्र के छात्र टाइपिंग सीख सकते हैं।

आदित्यन का कहना है कि मुझे वास्तव में एक स्थापित कंपनी का मालिक बनने के लिए 18 साल से अधिक उम्र का होने तक इंतजार करना पड़ेगा। हालांकि हम एक कंपनी की तरह ही काम करते हैं। हमने 12 से अधिक ग्राहकों के साथ काम किया है और उन्हें बिल्कुल मुफ्त वे डिजाइन और कोड सेवाएं दी हैं, जिन्हें हमने खुद तैयार किया है।