प्रसिद्द TIME मैगज़ीन के कवर पेज पर “India’s divider-in-chief” की उपाधि सहित प्रधानमंत्री मोदी के फोटो छपने से देश में बहस छिड़ गयी है, TIME मैगज़ीन के कवर पेज से सम्बंधित लेख को लिखने वाले आतिश तासीर हैं, जो कि एक ब्रिटिश मूल के पत्रकार और लेखक हैं।

सोशल मीडिया पर TIME मैगज़ीन के कवर पेज के फोटो शेयर होने और लेख का विवरण जारी हो जाने के बाद भाजपा आईटी सेल हरकत में आ गयी है,और दोतरफा हमला शुरू किया है, पहला हमला आतिश तासीर के विकिपीडिया पेज पर किया गया है, और दूसरा हमला सोशल मीडिया पर इसके विरोध में किया जा रहा है।

Scroll में प्रकाशित खबर  के अनुसार लोकसभा चुनाव के बीच भारत में इतनी बड़ी अन्तर्राष्ट्रीय पत्रिका के कवर पेज पर पीएम मोदी का इस तरह के फोटो के शीर्षक के साथ कोई लेख छपना बीजेपी के लिए चिंता का विषय तो हो ही सकता है।

मोदी समर्थकों ने सोशल मीडिया पर आतिश तासीर को निशाने पर ले लिया है, एक मोदी समर्थक सोशल मीडिया यूजर चौकीदार शशांक सिंह (@pokershash) ने टवीट किया कि “तो आतिश तासीर भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के लिए PR मैनेजर के रूप में काम करते हैं, टाइम मैग्जीन ने अपनी विश्वसनीयता खो दी है, इसमें कोई शक नहीं रहा टाइम वामपंथी के मुखपत्र बन गया है।

इस टवीट को 500 से ज्यादा बार RT किया गया, शशांक सिंह ने अपने टवीट के साथ आतिश तासीर के विकिपीडिया पेज का स्क्रीनशॉट भी लगाया है।

इस तरह के टवीट्स से पहले ही भाजपा आईटी सेल वालों ने आतिश तासीर के विकी पेज पर हमला कर दिया था, और आतिश के विकी पेज को एडिट कर डाला था, शशांक सिंह ने अपने टवीट में जो स्क्रीनशॉट लगाया गया है वो दरअसल एडिटेड है जिसमें लिखा है कि “वर्तमान में आतिश कांग्रेस के पी आर मैनेजर के रूप में काम कर रहे हैं।”

ऑल्ट न्यूज़ ने अपनी छानबीन में पाया था कि आतिश तासीर की विकिपीडिया पेज को 10 मई को कई बार एडिट किया गया है, पहली एडिटिंग सुबह 7:59 बजे की गयी जहाँ उनको “कांग्रेस का पीआर मैनजर” कहा गया है।

आतिश तासीर के विकी पेज के “लगातार विघटनकारी एडिटिंग” के चलते और इसे “संरक्षित” कर दिया गया है। इसका मतलब यह है कि आतिश तासीर के विकी पेज की सामग्री को आगे इस तरह की दुर्भावनापूर्ण एडिटिंग के हमलों से बचाया जा सके।

जबकि ये वाली TIME मैगज़ीनअभी बाज़ार में उपलब्ध नहीं है, नरेंद्र मोदी के कवर वाली ये मैगज़ीन 20 मई 2019 को जारी की जाएगी।