मशहूर धारावाहिक रामायण में राम का किरदार निभाने वाले अभिनेता अरुण गोविल की पिछले साल भाजपा में जाने की चर्चाएं सुर्ख़ियों में रही थीं, मगर इन सब पर विराम लगाते हुए कल अभिनेता अरुण गोविल के कांग्रेस ज्वाइन करने की खबर आयी है।

Times of India के अनुसार एमपी के मुख्यमंत्री कमलनाथ जी के कार्यालय के नज़दीकी सूत्रों ने खबर दी है कि इंदौर से 8 बार सांसद रहीं लोकसभा स्पीकर सुमित्रा माहाजन के खिलाफ अरुण गोविल को इंदौर सीट से कांग्रेस टिकट देने पर विचार कर सकती है।

कल ही प्रसिद्द धारावाहिक ‘भाबी जी घर पर हैं’ की भाभी जी शिल्पा शिंदे ने भी कांग्रेस ज्वाइन की थी, एमपी कांग्रेस के एक धड़े को लगता है कि अभिनेता अरुण गोविल गेम चेंजर हो सकते हैं, एमपी कांग्रेस मीडिया सेल से इस मुद्दे पर नरेंद्र सलूजा ने पुष्टि की है, उन्होंने कहा कि ”अरुण गोविल जी के नाम पर विचार किया जा रहा है। अगर वो कांग्रेस के टिकट के लिए आवेदन करते हैं तो इस पर गंभीरता से विचार किया जाएगा।”

इसी इंदौर सीट के लिए कई और भी नामों की चर्चा है, जिनमें हायर एजुकेशन मिनिस्टर जीतू पटवारी, सत्यनारायण पटेल, पंकज सांगवी और अर्चना जायसवाल के नाम प्रमुख हैं। इन नामों में पंकज सांगवी का नाम पहले इसलिए भी है कि उन्होंने 2013 में इंदौर – 5 सीट से चुनाव लड़ा था जिसमें वो भाजपा से 11000 मतों से हारे थे।

एमपी कांग्रेस की लिस्ट में स्वप्निल कोठारी का नाम भी चर्चा में है जो कि शहर के कई शैक्षणिक संस्थानों का प्रमुख हैं और उन्होंने 65,000 छात्रों को पढ़ाने का दावा किया है।

इंदौर – मालवा बेल्ट भगवा गढ़ के रूप प्रसिद्द है, मगर 2018 के चुनावों में कांग्रेस ने इस बेल्ट में गहरी पकड़ बनाई है, एमपी कांग्रेस के एक वर्ग को लगता है कि अरुण गोविल पार्टी के सॉफ्ट-हिंदुत्व नज़रिये के साथ पूरी तरह से फिट बैठते हैं।