कल लखनऊ में ड्राई फ्रूट बेचने वाले निहत्थे कश्मीरियों के साथ भगवाधारी गुंडों द्वारा मारपीट की गयी उसके बाद सोशल मीडिया यूज़र्स ने उस मारपीट का वीडियो हज़ारों की संख्या में शेयर किया यूपी पुलिस को टैग किया, परिणाम स्वरुप चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है, पुलिस ने बताया कि सभी आरोपी स्थानीय संगठन विश्व हिंदू दल से जुड़े थे।

ड्राई फ्रूट बेचने वाले निहत्थे कश्मीरियों के साथकी गयी मारपीट से सोशल मीडिया पर लोग आक्रोशित हैं, निंदा कर रहे हैं और इस कृत्य पर अपनी अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं, उनके समर्थन में उठ खड़े हुए हैं।

एक फेसबुक यूज़र Madhu Garg ने लिखा है कि ‘कश्मीरियों के साथ हम सब।’

आगे वो पीटे गए कश्मीरी सलीम के कमरे और उसके परिवार के फोटो शेयर कर अपनी फेसबुक पोस्ट में लिखती हैं :-

“सीलन भरे कमरे और अंधेरी गलियों के के बीच सलाम अपने परिवार के साथ रहते हैं । कल उन्हें और उनके साथ ड्राय फ्रूट्स बेचने वाले उनके साथी को डालीगंज पुल पर भगवाधारियों ने पीटा ।

कुसूर ?? वे कश्मीर से आते हैं। वे पिछले 20 सालों से लखनऊ आ रहे हैं । वे लखनऊ को तहजीब का शहर मानते हैं और हैरान हैं कि तहज़ीब के शहर लखनऊ को यह क्या हो गया ????

सलाम बहुत गरीब हैं और इनका काफी नुकसान भी हुआ है । हमने 8 मार्च को जनवादी महिला समिति लखनऊ के जिला सम्मेलन में कश्मीरियों को आमंत्रित किया है वे आयें और अपने ड्रायफ्रूट्स बेचें और हम सब खरीदेंगे ।

लखनऊ के अमन पसंद नागरिकों से अपील है कि 2बजे बुद्धा अकेडमी पहुंचें (संगीत नाटक अकादमी ) के पास और उनका सामान खरीद कर उनको यह विश्वास दिलायें कि कश्मीर भी हिन्दुस्तान में है और वे हिन्दुस्तान के ही नागरिक हैं।”

,#कश्मीरियों_के_साथ_हम_सब सीलन भरे कमरे और अंधेरी गलियों के के बीच सलाम अपने परिवार के साथ रहते हैं । कल उन्हें…

Posted by Madhu Garg on Thursday, March 7, 2019

वहीँ दूसरी और कई संगठन कल शुक्रवार 8 मार्च को 3:30 बजे अंबेडकर प्रतिमा, हज़रतगंज पर कश्मीरियों, दलितों और महिलाओं पर किये जा रहे हमलों व उत्पीड़न के खिलाफ संयुक्त रूप से धरना देंगे।

इस देश में अभी बहुत से ऐसे लोग मौजूद हैं जो धर्म, राजनीति, लिंगभेद, क्षेत्रवाद, ज़ात बिरादरी जैसी सरहदों को तोड़ कर इन विघटनवादी ताक़तों का प्रतिरोध करने, भारत को पाकिस्तान बनने से रोकने के लिए एकजुट होकर बार बार उठ खड़े होते हैं।

ज़ुल्म और उत्पीड़न के खिलाफ आवाज़ बुलंद करने वाले इन सभी प्रतिरोध के प्रहरियों की कोशिशों और जज़्बों को सलाम। जब भी जहाँ भी जैसा भी मौक़ा मिले इनकी आवाज़ बनिए इनके हाथ मज़बूत कीजिये।