14 फ़रवरी को पुलवामा में हुए पाक प्रायोजित आतंकी हमले में 42 जवानों की शहादत के बाद देश में दुःख और आक्रोश की लहर है, पाकिस्तानी कलाकारों खिलाडियों के बहिष्कार की मांग उठायी जा रही है, न्यूज़ चैनल्स पाकिस्तान से बदला लिए जाने की वकालत कर रहे हैं, इसमें ज़ी न्यूज़ सबसे आगे है। ज़ी न्यूज़ और ज़ी ग्रुप के मालिक और भाजपा के क़रीबी राज्य सभा सांसद रहे सुभाष चंद्रा और उनके न्यूज़ चैनल ज़ी न्यूज़ के राष्ट्रवाद को कौन नहीं जानता।

इसी पुलवामा हमले के एक दिन बाद यानी शुक्रवार 15 फरवरी को ही ज़ी ग्रुप ने दुबई में ‘ALL FOR LOVE’ नामक एक बड़े शो के आयोजन को स्पांसर किया जिसमें पाकिस्तानी गायक शफ़क़त अमानत अली और पाकिस्तान के रॉक बैंड स्ट्रिंग ने परफार्म किया।

इस इवेंट के बारे में ज़ी टीवी मिडिल ईस्ट ने 17 फ़रवरी अपने आधिकारिक टवीटर हैंडल https://twitter.com/ZeeTVME से पाकिस्तानी कलाकारों की तारीफ करते हुए इस इवेंट की एक वीडियो क्लिप शेयर की है। Zee TV Middle East ने वीडियो क्लिप शेयर करते हुए लिखा ‘क्या आपने कार्यक्रम का उतना आनंद लिया जितना हमने लिया ?

जैसे ही देश में ज़ी ग्रुप द्वारा पाकिस्तानी कलाकारों के इस इवेंट को स्पांसर करने की खबर मिली लोग सोशल मीडिया पर विरोध स्वरुप अपनी प्रतिक्रियाएं देने लगे, जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने इस दुबई में हुए इस इवेंट को लेकर टवीट कर ज़ी न्यूज़ के दोगले राष्ट्रवाद पर तंज़ कसा है।

साथ ही समाजवादी पार्टी की पूर्व प्रवक्ता पंखुरी पाठक ने भी इस आयोजन पर सवाल उठाते हुए टवीट किया है की : “पुलवामा आतंकी हमले के एक दिन बाद Zee TV द्वारा दुबई में पाकिस्तानी कलाकारों का प्रोग्राम कराया गया। रोज़ शाम न्यूज़ पर यही लोग पूरे देश को पाकिस्तान और कश्मीर के ख़िलाफ़ भड़काते हैं। लेकिन पैसे के लिए सब चलता है ना ?
#दोगले
यह #देशद्रोही नहीं तो कौन ?

दुबई में हुए इस इवेंट और इसे स्पांसर करने के मामले को तूल पकड़ता देख आगामी 20 फ़रवरी को दुबई में ही आयोजित Global Summit ‘2019 के प्रायोजकों में से एक प्रायोजक WION ने अपने ग्लोबल समिट से पाकिस्तानी वक्ताओं का निमंत्रण वापस ले लिया है। WION भी एस्सेल ग्रुप का ही एक संसथान और DNA का सिस्टर चैनल है। जिन पाकिस्तानी वक्ताओं के नाम WION द्वारा वापस लिए गए उनमें मुख थे : इन वक्ताओं में मुख्य नाम थे पूर्व पाकिस्तानी राष्ट्रपति परवेज़ मुशर्रफ, भारत में पाक के पूर्व राजदूत अब्दुल बासित और पूर्व पाकिस्तानी विदेश सचिव सलमान बशीर।

इस ग्रुप के न्यूज़ चैनल ज़ी पर आप चौबीसों घंटे पाकिस्तान के सर्वनाश करने, मिटटी में मिला देने, बलिदानों का बदला लेने, सर्जिकल स्ट्राइक करने जैसी राष्ट्रवादी हुंकारें देख सकते हैं, जिस देश के 42 जवान पाकिस्तानी आतंकी हमले में शहीद हुए हों उस देश का व्यापारिक ग्रुप पुलवामा आतंकी हमले के एक दिन बाद ही दुबई में उसी आतंकी देश पाकिस्तान के गायकों के इवेंट का प्रायोजक बनता है और अपने टवीटर हैंडल पर पाकिस्तानी कलाकारों की तारीफ करते हुए कार्यक्रम की एक वीडियो क्लिप शेयर भी करता है। ये निहायत ही घटिया, शर्मनाक और दुखद हरकत है।