कश्मीरी कोचिंग स्टूडेंट्स का दर्द बांटने उठ खड़ा हुआ कोटा शहर, शहर क़ाज़ी के अनुरोध पर बनाया गया स्टूडेंट्स रिलीफ फण्ड, एक ही दिन में इकठ्ठे हुए 200,000/- रूपये।

कश्मीरी कोचिंग स्टूडेंट्स का दर्द बांटने उठ खड़ा हुआ कोटा शहर, शहर क़ाज़ी के अनुरोध पर बनाया गया स्टूडेंट्स रिलीफ फण्ड, एक ही दिन में इकठ्ठे हुए 200,000/- रूपये।
2 0
Read Time3 Minute, 39 Second

स्पेशल स्टोरी वाया : Aabshar Quazi (Hindustan Times)

जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म करने और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने के फैसले के बाद से कश्मीर में दो माह से जारी पाबंदियों के चलते कोटा (राजस्थान) में कोचिंग के लिए कश्मीर से आये स्टूडेंट्स को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ा है, संचार माध्यमों पर पाबन्दी के चलते कश्मीरी स्टूडेंट्स अपने अभिभावकों से संपर्क नहीं हो पा रहा था वहीँ उन्हें इन पाबंदियों के चलते आर्थिक तंगी का भी सामना करना पड़ रहा था।

कोटा शहर क़ाज़ी अनवार अहमद साहब ने कोटा शहर प्रशासन, कोचिंग संस्थानों और अन्य सामाजिक संगठनों से इन कश्मीरी स्टूडेंट्स की समस्याओं को सुलझाने के लिए गुज़ारिश की, और इसी के चलते जंगलीशाह बाबा के महफ़िल खाने में कश्मीरी स्टूडेंट्स के साथ ‘गेट टू गेदर’ संपन्न हुआ जिसमें Allen, Resonance, Motion, Sarvottam, Vibrant, कोचिंग के लगभग 500 कश्मीरी स्टूडेंट्स ने हिस्सा लिया।

‘गेट टू गेदर’ में शहर क़ाज़ी अनवार अहमद ने कश्मीर से आये इन कोचिंग स्टूडेंट्स के लिए ‘Relief Fund’ बनाये जाने का अनुरोध किया और देखते ही देखते इस रिलीफ फण्ड में 200,000/- रूपये की सहायता राशि इकठ्ठी हो गई।

इस आयोजन में आये सैंकड़ों कश्मीरी कोचिंग स्टूडेंट्स ने आयोजकों के साथ अपनी समस्याएं साझा कीं, कश्मीर में लगी पाबंदियों के चलते इन कोचिंग स्टूडेंट्स को संचार माध्यमों पर बैन के चलते न सिर्फ अपने परिवार से संपर्क करने में परेशानी हो रही है बल्कि अभिभावकों से संपर्क न होने और ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर न होने जैसी परेशानियों के चलते उनके अपने दैनिक खर्चे के लिए भी संकट खड़ा हो गया है।

इस ‘गेट टू गेदर’ में शहर क़ाज़ी अनवार अहमद के साथ कोटा शहर पुलिस अधीक्षक दीपक भार्गव, रेसोनेंस इंस्टिट्यूट डायरेक्टर आर के वर्मा सहित विभिन्न मुस्लिम सामाजिक संगठनों ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया और कश्मीरी स्टूडेंट्स के लिए 200,000/- रूपये की आर्थिक सहायता इकठ्ठी की गयी।

जिसमें बैतूलमाल कोटा की ओर से 50000/ अल फ़लाह एजुकेशनल एंड वेलफेयर ट्रस्ट कोटा द्वारा 100000/, खेलदार समाज की ओर से 50000/ की आर्थिक सहायता देकर इन कश्मीरी कोचिंग स्टूडेंट के लिए ‘रिलीफ फण्ड’ की शुरुआत की गई। इस फण्ड से इन कश्मीरी कोचिंग स्टूडेंट्स को आगे भी हर तरह की मदद मिलती रहेगी।

इससे पहले भी ईद के मौके पर कोटा शहर प्रशासन ने सैकड़ों कश्मीरी स्टूडेंट्स के साथ एक बड़ा ईद मिलन समारोह आयोजित कर एक मिसाल पेश की थी।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *