अमरीका में भारत के महावाणिज्यदूत संदीप चक्रवर्ती ने यह कहकर विवाद खड़ा कर दिया कि भारत 1970 के दशक में हिंसा के कारण घाटी छोड़ने वाले कश्मीरी पंडितों के पुनर्वास में ‘इज़राइली मॉडल’ का पालन कर सकता है। एक निजी कार्यक्रम में बोलते हुए उनका एक वीडियो वायरल हुआ है जिसमें वो कह रहे हैं कि “भारत को भी कश्मीर में ‘इजरायली मॉडल’ अपनाना चाहिए और कश्मीरी पंडितों को वहां आबाद करना चाहिए। “

Al Jazeera के अनुसार न्यूयॉर्क में एक निजी कार्यक्रम के दौरान, जिसमें कश्मीरी पंडित प्रवासी के कुछ सदस्यों ने भाग लिया था, में भारत के महावाणिज्यदूत संदीप चक्रवर्ती ने कश्मीर से धारा 370 को हटाए जाने के बारे में कश्मीरी पंडितों से चर्चा की थी।

वायरल वीडियो में वो कहते नज़र आ रहे हैं कि “मेरा मानना ​​है कि जम्मू और कश्मीर में सुरक्षा की स्थिति में सुधार होगा। यह शरणार्थियों को वापस जाने की अनुमति देगा और आपके जीवनकाल में, आप वापस जाने में सक्षम होंगे … आप अपने घर वापस जा पाएंगे और आपको सुरक्षा मिलेगी , क्योंकि हमारे पास पहले से ही दुनिया में एक मॉडल है, “संदीप चक्रवर्ती ने इजरायल के ‘सेटलमेंट’ मॉडल के हवाले से कहा।

इज़राइल के उक्त मॉडल का उदाहरण देते हुए संदीप चक्रवर्ती ने कहा कि “मुझे नहीं पता कि हम इसका पालन क्यों नहीं करते, ये यह मध्य पूर्व में हुआ है। अगर इजरायल ऐसा कर सकता है तो हम भी कर सकते हैं।”

उल्लेखनीय है कि इजरायल ने 1967 में वेस्ट बैंक और पूर्वी यरुशलम पर कब्जे के बाद से लगभग 140 बस्तियों का निर्माण किया है जिन्हे अंतरराष्ट्रीय कानून के तहत बस्तियों को व्यापक रूप से अवैध माना जाता है। मगर अमेरिका ने हाल ही में उन इज़राइली बस्तियों को मान्यता दे दी है।

इजरायल और यहूदी मुद्दे पर एक अतिथि द्वारा की गई टिप्पणी का उल्लेख करते हुए संदीप चक्रवर्ती ने कहा, “उन्होंने (यहूदियों) अपनी संस्कृति को मातृभूमि के बाहर 2000 वर्षों तक जीवित रखा और वे वापस चले गए। मुझे लगता है कि हमें भी कश्मीरी संस्कृति को जीवित रखना होगा। कश्मीर संस्कृति भारतीय संस्कृति है, यह हिंदू संस्कृति है।”

संदीप चक्रवर्ती के इस वीडियो के वायरल होने के बाद पाकिस्तान के प्रधान मंत्री इमरान खान ने बुधवार को टवीट कर कहा कि चक्रवर्ती के विचार “भारत सरकार की फासीवादी मानसिकता” को दर्शाते हैं।

इस विवाद पर संदीप चक्रवर्ती ने टवीट कर कहा कि सोशल मीडिया पर उनकी बातों को गलत सन्दर्भ में पेश किया गया है।

संदीप चक्रवर्ती न्यूयॉर्क में उन कश्मीरी हिंदुओं की एक निजी सभा में बोल रहे थे, जो बॉलीवुड फिल्म निर्माता विवेक रंजन अग्निहोत्री से मिलने के लिए न्यूयॉर्क में इकट्ठा हुए थे, रंजन अग्निहोत्री भारतीय जनता पार्टी (BJP) के कट्टर समर्थक भी हैं । अग्निहोत्री अमरीका में 1989 के कश्मीरी हिंदुओं के कश्मीर घाटी से पलायन पर एक फिल्म बनाने के लिए भारतीय प्रवासियों से मदद मांग रहे थे।